जिला प्रोफाइल

इतिहास
जिला जांजगीर-चांपा की स्थापना 25 मई 1998 को हुई थी। जिला जांजगीर-चांपा छत्तीसगढ राज्य के मध्य स्थित होने के कारण इसे छत्तीसगढ राज्य के हृदय के रूप में माना जाता है। जिला जांजगीर-चांपा के मुख्यालय जांजगीर कलचुरी वंश के महाराजा जाज्वल्य देव की नगरी है। जिला जांजगीर-चांपा छत्तीसगढ राज्य के प्रमुख अनाज उत्पादक जिलों में से एक है। यहां स्थित विष्णु मंदिर जांजगीर-चांपा जिलें के सुनहरे अतीत का प्रतीक है।विष्णु मंदिर वैष्णव समुदाय की प्राचीन कलात्मकता की परिचायक है। हसदेव परियोजना को जिला जांजगीर-चांपा के लिए जीवन वाहिनी के रूप में माना गया है। इस परियोजना के तहत जिले के तीन चौथाई क्षेत्र को सिंचित किया जा रहा है।
जिले का स्थान
जांजगीर-चांपा जिले का मुख्यालय जांजगीर है जो कि राष्ट्रीय राजमार्ग 49 पर स्थित है। सडक मार्ग द्वारा जांजगीर, बिलासपुर जिले से 65 किमी और छत्तीसगढ राज्य की राजधानी रायपुर जिले से 175 किमी दूरी पर है।साउथ-इस्टर्न-सेन्ट्रल रेल्वे जांजगीर-चांपा जिले के मुख्यालय जांजगीर से जुडा हुआ है। यह मुम्बई-हावडा मुख्य रेलमार्ग पर स्थित है। रेल मार्ग द्वारा जांजगीर, छत्तीसगढ राज्य की राजधानी रायपुर की दूरी 152 किमी है। जांजगीर-चांपा जिले के मुख्यालय से निकटतम रेल्वे स्टेशन नैला एवं चांपा स्टेशन है।
सीमायें (जिले की)
पूर्व जिला रायगढ़
पश्चिम जिला बिलासपुर
उत्तर जिला कोरबा, बिलासपुर
दक्षिण महानदी, जिला रायपुर, रायगढ़
जिले की अक्षांशीय स्थिति
देशान्तर उत्तर की ओर 21.6 डिग्री से 22.4 डिग्री
अक्षांश पूर्व की ओर 82.3 डिग्री से 83.2 डिग्री
समुद्र तल से ऊंचाई 294.4 मीटर
जलवायु
औसत वर्षा 1157.1 mm
सामान्य वर्षा 1478.0 mm
औसत अधिकतम तापमान 49.0 डिग्री सी
औसत न्यूनतम तापमान 08.0 डिग्री सी

सूचना पट्ट

हेल्पलाइन

चाइल्ड लाइन